About Me

Please visit our Download Section.
Please visit our Download Section.

काल भैरव स्तोत्र | Kaal Bhairav Stotra Lyrics in Sanskrit

 काल भैरव स्तोत्र | Kaal Bhairav Stotra in Sanskrit

काल भैरव स्तोत्र भगवान काल भैरव को समर्पित है।काल भैरव शिव के ही स्वरूप हैं। कलयुग में उनका आशीर्वाद बहुत ही फलदायी होता है। वे कलियुग की बाधाओं का शीघ्र निवारण करने वाले देवता माने जाते हैं। श्री काल भैरव स्तोत्र के बहुत ही फायदे है,अगर आप इस स्तोत्र का निमयमित जाप करेंगे तो लाभवंतित होंगे। कालभैरव् जी का यह स्तोत्र आपको हमेसा ऊर्जावान  रखता है। तांत्रिक बाधाओ और उनके दोष उनके पूजन से दूर हो जाते हैं। काल भैरव स्तोत्र साथ साथ भैरव अष्टक और भैरव कवच का पाठ जरूर करना चाहिए। 

भगवान भैरव के पूजन से राहु-केतु शांत हो जाते हैं। उनके पूजन में भैरव अष्टक और भैरव कवच का पाठ जरूर करना चाहिए। इससे शीघ्र फल मिलता है। साथ ही तांत्रिक व प्रेत बाधा का संकट टल जाता है।

श्री कालभैरव स्तोत्र | Kalbhairav stotra lyrics

नमो भैरवदेवाय नित्यायानंद मूर्तये । 

विधिशास्त्रांत मार्गाय वेदशास्त्रार्थ दर्शिने ॥ १ ॥ 

दिगंबराय कालाय नम: खट्वांग धारिणे ॥ 

विभूतिविल सद्भाल नेत्रायार्धेंदुमोलिने ॥ २ ॥ 

कुमारप्रभवे तुभ्यं बटुकाय महात्मने । 

नमोsचिंत्य प्रभावाय त्रिशूलायुधधारिणे ॥ ३ ॥ 

नमः खड्गमहाधार ह्रतत्रैलोक्य भितये । 

पुरितविश्र्व विश्र्वाय विश्र्वपालायते नमः ॥ ४ ॥ 

भुतावासाय भूताय भूतानां पतये नमः । 

अष्टमूर्ते नमस्तुभ्यं कालकालायते नमः ॥ ५ ॥ 

कंकाला याति घोराय क्षेत्रपालाय कामिने । 

कलाकाष्ठादिरुपाय कालाय क्षेत्र वासीने ॥ ६ ॥ 

नमः क्षत्रजित तुभ्यं विराजे ज्ञानशालिने । 

विधानां गुरवे तुभ्यं निधीनांपतये नमः ॥ ७ ॥ 

नमः प्रपंच दोर्दंड दैत्यदर्प विनाशिने । 

निज भक्तजनोद्दाम हर्ष प्रवर दायिने ॥ ८ ॥ 

नमो दंभारिमुख्याय नामैश्र्वर्याष्ट दायिने । 

अनंत दुःख संसार पारावारांत दर्शने ॥ ९ ॥ 

 नमो दंभाय मोहाय द्वेषायोच्चोटकारिणे । 

वशंकराय राजन्य मौलिन्यस्य निजांघ्रये ॥ १० ॥ 

नमो भक्तापदा हंत्रे स्मृतिमात्रार्थ दर्शिने । 

आनंदमूर्तये तुभ्यं स्मशान निलयायते ॥ ११ ॥ 

वेताळभूत कुश्मांड ग्रहसेवा विलासिने । 

दिगंबराय महते पिशाचाकृति शालिने ॥ १२ ॥ 

नमो ब्रह्मादिभिर्वंद्द पदरेणु वरायुषे । 

ब्रह्मादि ग्रास दक्षाय निःफलाय नमो नमः ॥ १३ ॥ 

नमः काशीनिवासाय नमो दंडकवासिने । 

नमोsनंत प्रबोधाय भैरवाय नमो नमः ॥ १४ ॥ 

 श्री कालभैरव स्तोत्र संपूर्णम् ॥ श्री कालभैरवार्पणंsस्तु ॥ 

शुभं भवतु ॥ 

काल भैरव स्तोत्र के फायदे | Kal Bhairav Stotra Benefits

1.तांत्रिक बाधाओ और उनके दोष उनके पूजन से दूर हो जाते हैं। 
2.या गृहस्वामी का स्वास्थ्य, भगवान भैरव स्मरण और पूजन मात्र से उनके कष्टों को दूर कर देते हैं।
3.भगवान भैरव के पूजन तथा काल भैरव स्तोत्र से राहु-केतु शांत हो जाते हैं।
4.इसके जाप से शीघ्र फल मिलता है। 
5.अघोरी या तांत्रिक व प्रेत बाधा का संकट टल जाता है।
6.यह स्तोत्र आपको हमेशा ऊर्जावान रखता है। 

काल भैरव स्तोत्र

Articles Related to काल भैरव स्तोत्र | Kaal Bhairav Stotra in Sanskrit

Post a Comment

0 Comments