About Me

Please visit our Download Section.
Please visit our Download Section.

हनुमान जी के चमत्कारिक मंत्र | हनुमान मंत्र |गुप्त हनुमान मंत्र|पंचमुखी हनुमान मंत्र

हनुमान जी जो संकटमोचन के नाम से प्रसिद्द है। हनुमान जी की पूजा दुखों के नाश के लिए अत्यंत प्रभावशाली मानी जाती है। ऐसी मान्यता है कि जो व्यक्ति उनका ध्यान करता है और हनुमान जी मंत्रों का जाप करता है उनपर बजरंगबली की कृपा हमेशा बनी रहती है। साथ ही उसके जीवन से समस्त झंझट और परेशानियां भी समाप्त हो जाती हैं। इस पोस्ट में हम कुछ अचूक हनुमान जी के मंत्र शेयर कर रहे हैं। 

कहा जाता है कि अगर हर मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी के चमत्कारिक मंत्रों का जाप किया जाए तो व्यक्ति को कामयाबी हासिल होती है।कहा जाता है  एक  बार सीता माता अपना श्रृंगार कर रही थी तो हनुमान  सीता माता से प्र्सन किये माता   सिन्दूर क्यों लगाती हैं तो माता बोलीं  भगवन हमारे पति की लम्बी आयु  प्रभु खुश होंगे तब हनुमान जी , राम जी को खुश  करने के लिए सिन्दूर को अपने पुरे शरीर को सिंदूर से रंग लिए थे। है। हनुमान चालीसा ,हनुमानाष्टक ,बजरंग बाण ये तीनो का पाठ बहुत लाभप्रद होता है। २१ मंगलवार का  व्रत करने से सारी मनोकामनाएं पूरी होती है। 

हनुमान जी के चमत्कारिक मंत्र :

1. 'ॐ हं हनुमतेनम:।'

वाद-विवाद, न्यायालय आदि के लिए प्रयोग किया जा सकता है।

2. 'ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकायं हुं फट्।'

शत्रुसेअधिक भय हो, जान-माल का डर हो, तो यह प्रयोग उचित रहेगा।

3. 'ॐ हं पवननन्दनाय स्वाहा।'

हनुमानजी के दर्शन सुलभ होतेहैं, यदि नित्य यह पाठ किया जाए

4. 'ॐ नमो हरि मर्कट मर्कटाय स्वाहा।'

शत्रुबलवान होनेपर यह जप निश्चित लाभ देता है।

Hanuman Mantra Continues 

5. 'ॐ नमो भगवतेआंजनेयाय महाबलाय स्वाहा।'

असाध्य रोगों के लिए इस मंत्र का प्रयोग करें।

6. 'ॐ नमो भगवते हनुमतेनम:।'

सर्वसुख-शांति के लिए यह मंत्र जपें।

पंचमुखी हनुमान मंत्र

7.ॐ दक्षिणमुखाय पच्चमुख हनुमते करालबदनाय

8.नारसिंहाय ॐ हां हीं हूं हौं हः सकलभीतप्रेतदमनाय स्वाहाः

हनुमान मंत्र

यदि आप मंगलवार के दिन 108 बार भगवान श्री हनुमान का जाप इन मंत्रों का जाप पूरी आस्था से करें, तो आपकी सभी संकट आसानी से दूर हो जाएंगी। भगवान श्री हनुमान की पूजा आराधना करने से संपत्ति, नौकरी, रोजगार, यश और मान सम्मान जैसी हर कामों में कोई भी बाधाएं उत्पन्न नहीं होती है। उनकी उपासना करते रहने से सभी कार्य शुभ तरीके से पूर्ण होते है। इसलिए मंगलवार को उनकी अराधना  से  विशेष फल प्राप्त होता है। इसलिए इन हनुमान जी के मंत्रो को नियम अनुसार जपते रहना चाहिए। 

Related Articles 

महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है

Shiv Puran | Important Teachings From Shiv Puran

Teez Vrat Katha | Why Teez is celebrated


Post a Comment

1 Comments

  1. What's inside the casino? - DrMCD
    The casino is a casino that is the resort to 전주 출장마사지 and the 밀양 출장안마 rooms are the same 포항 출장마사지 color as in most other casinos. 인천광역 출장안마 The gaming tables are located next to the 대전광역 출장안마

    ReplyDelete